Why Indian smartphone brands failed ? / Why Micromax , Lava , Spice failed ?

आज Micromax , Lava , Karbon जैसी brand के मोबाइल ढूंढने से भी नहीं मिलते , पर वह अभी भी मोबाइल बना रही हैं। आज से कुछ साल पहले micromax ने samsung को हरा दिया था , और आज इनके mobile बिकते क्यों नहीं ?

अब दिक्कत यें हुई की micromax ने customer के बारे में नहीं सोचा और ज़्यादा service centers open नहीं किये , बस profit पे ज़्यादा ध्यान लगाया और सारी brand एक दूसरे से competition में लग गयी।

2014 में xiaomi और one plus जैसी brand इंडिया में आ गयी , और competition बहुत ज़्यादा बढ़ गया।  Xiaomi और one plus के पास technology थोड़ी advance थी , तब तक samsung के फ़ोन भी थोड़े सस्ते हो गए थे। Xiaomi और me 3 ने सस्ते फ़ोन निकाले। motorola भी एक आ गया।  online market बढ़ रहा था , सब Amazon , Flipkart से shopping कर रहे थे और यें सारी brand online आ गयी।  अब आ गए Oppo – Vivo (इनके बारे में तोह सबको पता हैं।) और यें सब brand ने बहुत ज़्यादा marketing की।  

तब से indian brand का mobile बिकना काम हो गया , कभी कभी micromax , lava ने वापस market में आने की कोशिश की , पर बहुत ज़्यादा कुछ नहीं हुआ। Real me brand अभी पिछले साल ही आये और आते ही धमाका कर दिया। 

तो क्या indian brand वापस market में आ सकते हैं ?

definitely आ सकते हैं। आज भी इंडिया में कही लोगो के पास स्मार्ट फ़ोन नहीं हैं , तोह अगर long time सोच कर , कम profit margin रख कर अच्छे फ़ोन लाये तोह जरूर market में फिरसे आ सकता हैं।  

thanks !!!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *